मीडिया के सामने फोटो खिंचवाने में दिखी बाइडन और पुतिन की कड़वाहट

एजेंसी (RAJNITI SANDESH)। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन की अपने रूसी समकक्ष व्लादिमीर पुतिन के साथ मुलाकात हुई। स्विट्जरलैंड में झील के किनारे मनोहारी हरियाली के बीच बने मेंशन में दुनिया की दो सबसे ताकतवर शख्सियतें आमने-सामने थीं। जी-7 के शिखर सम्मेलन और उसके बाद नाटो सम्मिट में रूस के खिलाफ तीखे बयान देने के बाद बाइडन स्विट्जरलैंड पहुंचे हैं। पुतिन अपने अमेर‍िकी समकक्ष जो बाइडन के साथ उच्‍च स्‍तरीय बैठक करने के लिए बुधवार को जिनेवा पहुंचे। उधर, अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन मंगलवार को जिनेवा पहुंच चुके हैं। इस बहुप्रतीक्षित बैठक से पहले अमेरिकी राष्‍ट्रपति बाइडन ने अपने यूरोपीय सहयोगियों के साथ विश्वास बहाली को लेकर बैठकें की हैं।

दुनिया को खतरे से परे रखने की मंशा से यहां पहुंचे दोनों नेताओं के भीतर एक-दूसरे को लेकर कितनी कड़वाहट है, यह इसी से जाहिर हो गया कि वार्ता शुरू होने से पहले दोनों नेताओं ने एक-दूसरे की ओर देखे बगैर ही मीडिया से फोटो खिंचवाईं। दोनों नेताओं के बीच वार्ता करीब पांच घंटे चलने की उम्मीद है। पुतिन ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि वार्ता लाभदायक होगी और उसके कुछ नया निकलकर आएगा, जबकि बाइडन ने कहा, आमने-सामने की मुलाकात हमेशा अच्छी होती है। इससे पहले दोनों नेताओं ने स्विट्जरलैंड के राष्ट्रपति गुए पैरामेलिन की मौजूदगी में हाथ भी मिलाया। पैरामेलिन ने वार्ता के लिए स्विट्जरलैंड का चयन करने के लिए दोनों नेताओं का आभार जताया।

इससे पहले महीनों से दोनों नेता एक-दूसरे पर तीखे प्रहार कर रहे हैं। बाइडन अमेरिकी हितों वाले ठिकानों पर साइबर अटैक करवाने के लिए पुतिन को जिम्मेदार ठहराते रहे हैं। अमेरिकी चुनाव को प्रभावित करने की पुतिन की कोशिश की निंदा करते रहे हैं। विपक्षी नेता नवलनी को जेल में डालने के लिए रूसी सरकार की निंदा करते रहे हैं, जबकि पुतिन छह जनवरी को अमेरिकी संसद भवन कैपिटल पर हमले को लोकतंत्र की मजबूती से जोड़ते हुए कहते रहे हैं कि अमेरिका को लोकतंत्र पर सीख देने का अधिकार नहीं है। वह साइबर अटैक के लिए खुद और रूस पर आरोपों को गलत ठहराते रहे हैं।

अब जबकि दोनों नेता आमने-सामने हैं, तब दोनों ही पक्षों को किसी बेहतर और हैरान करने वाले परिणाम की उम्मीद नहीं है। बाइडन इस सप्ताह के शुरू में ही कह चुके हैं कि कई क्षेत्रों में हम असहमत हैं, लेकिन हम रेड लाइन दिखाने के लिए एक-दूसरे से मिल रहे हैं। यह हमारे हित में है और दुनिया के हित में भी।

...