भारत का जासूस सैटलाइट तिब्बत के ऊपर से गुजरा, कांप गया चीन

लंबे समय से भारत-चीन सीमा पर चीन की ओर से हरकतें चल रही हैं। अब भारत ने चीन को उसी की चाल से घेरा है तो चीन एकदम बिलबिला पड़ा है और उसने अपनी सेना जुटानी शुरू कर दी है। दरअसल, भारत का एक जासूस सैटलाइट हाल ही में चीन के कब्जे वाले तिब्बत के ऊपर से गुजरा है। इस सैटलाइट ने अच्छी खासी जानकारी जुटाई है। इसी के बाद से चीन में हड़कंप मच गया है। भारत के डिफेंस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) का यह सैटलाइट EMISAT इंटेलिजेंस इनपुट जुटाने का काम करता है। इसमें एक ELINT यानी इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस सिस्टम ‘कौटिल्य’ लगा हुआ है, जिसकी खूबी है कि वह रक्षा क्षेत्र की अहम जानकारियां जुटा सकता है। एक आधिकारिक सूत्र ने बताया कि यह सैटलाइट हाल में अरुणाचल प्रदेश के पास स्थित तिब्बत के उस हिस्से के ऊपर से गुजरा है, जो तीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के कब्जे में है। इसरो के बनाए EMISAT का ELINT सिस्टम दुश्मन के क्षेत्र में ट्रांसमिशन के लिए इस्तेमाल होने वाले रेडियो सिग्नल्स को पढ़ लेता है। लद्दाख में पैंगोंग सो के फिंगर 4 को लेकर हुई भारत-चीन की बातचीत के बेनतीजा होने के एक ही दिन बाद यह सैटलाइट गुजरने से चीन में हड़कंप मच गया है। हालांकि, अभी दोनों देश लद्दाख विवाद पर और वार्ता करने को तैयार हैं। सूत्रों के मुताबिक, चीन ने डेप्सांग सेक्टर में भी अपने सैनिक जुटाए हैं। चीनी सैनिकों को एलएसी के पास गड्डा खोदते देखा जा सकता है। इससे पहले पीएलए ने 2013 में भी डेप्सांग में घुसपैठ की थी। शुक्रवार को सूत्रों ने बताया कि भारत के रेडार सैटलाइट RISAT-2BR1 चीन के पीप्लस लिबरेशन आर्मी नेवी (पीएलएएन) के जिबूती बेस (अफ्रीका) के ऊपर से गुजरा था। जिबूती नेवी बेस चीन का इकलौता ऐसा बेस है, जो देश के बाहर है। हाल ही में ऐसी खबरें भी आई थीं कि चीन ने जिबूती के पास अपने तीन युद्धपोत तैनात किए हैं।

...